ALL ख़ास ख़बर जरा हटके ब्रेकिंग न्यूज़
प्रधानमंत्री की अपील का दिखा असरः जनता ने जनता के लिए लगाया कर्फ्यू
March 23, 2020 • Arun Awasthi • जरा हटके

पुलिस प्रशासन की मुस्तैदी व जनता के सहयोग से सड़को पर छाया रहा सन्नाटा
उन्नाव। जिले के विभिन्न क्षेत्रों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील का लोगों ने भरपूर समर्थन किया। जिससे सड़कें खाली पड़ी दिखाई दी। यह नजारा लॉक डाउन जैसा था। इक्का दुक्का वह लोग ही सड़को पर नजर आये जिन्हें जरूरी काम थे। शहरों में लोग अपने घरों के अंदर रहे जिससे सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। जनता कर्फ्यू के बीच जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक लगातार लोगों से अपील करते नजर आये। जिले के विभिन्न तहसील क्षेत्रों बांगरमऊ, फतेहपुर चौरासी, सफीपुर, चकलवंशी, बीघापुर, भगवंतनगर, पाटन, पुरवा, मौरांवा, हसनगंज नवाबगंज, और शहर के साथ गंगाघाट एरिया में भी गलियों से लेकर बाजारों तक चौतरफा सन्नाटा पसरा दिखाई दिया। मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे और चर्च भी जनता कर्फ्यू के समर्थन में बंद रहे। 
डीएम रवीन्द्र कुमार और एसपी विक्रांत वीर अपने अधीनस्त अधिकारियों के साथ लगातार जिले के भ्रमण पर रहे। दोनों अधिकारियों ने बताया कि जिले में प्रधानमंत्री की अपील के चलते आम जनमानस ने जनता कर्फ्यू का भरपूर समर्थन किया है। इसके लिए जनता बधाई की पात्र है। बताया कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में पूरी तरह से जनता के सहयोग से यह जनता कर्फ्यू सफल रहा है। इसकी सफलता से हम कोरोना वायरस से लड़ने में सफल होंगे। 
जनता कर्फ्यू का दिखा असर, सड़कों पर छाया सन्नाटा तो दुकानें रही बंद
शहर के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में पड़ने वाले प्रमुख सम्पर्क मार्ग की सड़कों पर जनता कर्फ्यू का खासा असर देखने को मिला। रविवार सुबह 7 बजे शहर के बड़े चौराहे पर सन्नाटा पसरा नजर आया। पुलिस प्रशासन के अधिकारी सड़को पर मास्क लगाए दिखाई दे रहे थे। इक्का-दुक्का लोग ही घरों से बाहर दिखाई दिये जिनमें कुछ सड़को का नजारा देखने तो कुछ अपने जरूरी काम से सड़क पर थे। सभी तरह की दुकानों के बंद होने से सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ था। बीच-बीच में सिर्फ पुलिस की गाड़ियां सायरन बजाते हुए निकल रही थी। 
भीड़भाड वाले जिला अस्पताल में आज इमरजेंशी मरीज के शिवा कोई नजर नहीं आया जिससे अस्पताल परिसर में सन्नाटा छाया रहा। वहीं पर रेलवे स्टेशन पर भी इक्का दुक्का को छोड़ कोई दिखाई नहीं दे रहा था। शहर के बड़ा चौराहा, जेल गेट, पुलिस लाइन, सिविल लाइन्स के साथ लगभग पूरा शहर प्रधानमंत्री के आवाहन पर बंद नजर आया। जिले के जनप्रतिनिधि भी सड़को पर नजर न आकर घरो पर ही रहकर जनता कर्फ्यू को समर्थन दे रहे थे। जनता कर्फ्यू के समर्थन में घर पर मौजूद नवाबगंज के युवा ब्लाक प्रमुख अपने बच्चों के साथ क्रिक्रट का मजा लेते रहे। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री के आवाहन और कोरोना वायरस को हराने का संकल्प लेकर आज घर पर ही बच्चों के साथ रहकर पूरा समय दिया है।
शहर की सड़को को नगरपालिका ने किया सेनीटाइज
नगर पालिका की ओर से शहर की सड़को पर बड़े बड़े टैंकरों से पानी और केमिकल के द्वारा धुलाई कराई गयी। इसके साथ ही सफाई कार्य भी चलता रहा। सड़को पर पसरे सन्नाटे के चलते नगर पालिका कर्मियों को भीड़भाड वाले स्थानों पर सेनीटाइज करने में किसी तरह की समस्या का सामना नहीं करना पड़ा। कोरोना वायरस के चलते प्रशासन ने सड़को को सेनेटाइज कराने का फैसला लिया था। जिसके चलते कई टैंकर इस कार्य में लगाए गए थे।
बंद रहे पेट्रोल पम्प, निकले लोग हुए परेशान
जिला प्रशासन ने सभी पेट्रोल पंप बंद करने के निर्देश दिए थे। जिसका असर रविवार को देखने को मिला। सभी पेट्रोल पम्प बंद रहे। उधर, सफर के दौरान कई वाहनो का ईधन खत्म होने पर वाहन चालक परेशान दिखे। 
सुबह से देर शाम तक पुलिस करती रही गश्त
शहर व ग्रामीण क्षेत्र की पुलिस अलर्ट नजर आई। सुबह से लेकर देरशाम तक जिले की सभी थाना प्रभारी व चैकी प्रभारी ने अपने-अपने क्षेत्र में गश्त कर दिखे। 
दमकल कर्मी भी रहे अलर्ट 
आगजनी की किसी भी घटना को लेकर दमकल विभाग भी पूरे दिन अलर्ट रहा। अग्निश्मन अधिकारी शिवदरस प्रसाद ने बताया कि सभी गाड़ियों व कर्मी पूरी से अलर्ट है। दोपहर तक आगजनी की कोई सूचना नही प्राप्त हुई है। 
सैकड़ों बाहर से आने वाले लोगों की हुई थर्मल स्कैनिंग 
पुलिस की टीम प्रमुख चैराहे पर खड़ी होकर बाहर से आने वाले लोगो की थर्मल स्कैनिंग करती रही। उधर, यातायात विभाग का एक वाहन चैराहो पर खड़े लोगो को घर के अंदर जाने के लिए एनांउसमेंट करता रहा। 
चार हजार यात्री उतरे, रेलवे स्टेशन पर पसरा रहा सन्नाटा
उन्नाव रेलवे स्टेशन पर हर दिन पंद्रह से बीस हजार यात्रियों को आने जाने का सिलसिला रहता था। मगर रविवार की सुबह से ही सन्नाटा पसरा रहा। रात बारह बजे से दोपहर ढाई बजे तक सात अप और दस डाउन की ट्रेनें स्टेशन पर रुकी। सुबह सात बजे से ढाई बजे तक अप व डाउन मिलकर कुल पांच ट्रेनों का ठहराव और चार ट्रेनें रनथ्रू निकाली गई थी। स्टेशन पर रविवार को एक्सप्रेस ट्रेनों से करीब चार हजार यात्री आए। सुबह के समय थर्मल स्कैनिंग रेलवे प्रशासन द्वारा नहीं कराया गया। दोपहर को पुलिस व अस्पताल प्रशासन द्वारा रेलवे स्टेशन के गेट पर खड़े होकर आने वाले यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग कराने के बाद उन्हें जाने दिया गया।
5 बजते ही आने लगी शंख घंटा घड़ियाल की आवाजे 
प्रधानमंत्री की अपील यहां भी काम आई रविवार जनता कर्फ्यू के दौरान शाम पांच बजते ही शहर से लेकर देहात तक घरों से शंख, घंटा-घड़ियाल और तालियों की आवाजे आने लगी। इस ध्वनि से आसमान गूंज उठा। लोगों ने कोरोना वायरस से जंग लड़ रहे सेहत के सिपाहियों को उनके सम्मान के लिए लगातार पांच मिनट तक शंख, घंटा-घड़ियाल, थाली और तालियां बजाईं। युवा ब्लाक प्रमुख अरूण िंसह ने पहले परिजनों के साथ फिर कोतवाली प्रभारी अरविंद सिंह और चौकी प्रभारी के साथ में थाली बजाकर स्वास्थ्य सुरक्षा कर्मियों का आभार जाताया।